ललित कला अकादेमी द्वारा मुम्बई के जहांगीर आर्ट गैलरी में 5 से 13 दिसम्बर तक “द्वितीय अन्तर्राष्ट्रीय प्रिन्ट द्विवार्षिकी भारत” का भव्य आयोजन

इस कला प्रदर्शनी में भारत और विदेशों के कलाकारों की 149 कलाकृतियाँ प्रदर्शित की जाएँगी

भारत की स्वतंत्रता के 75 वर्ष होने पर आज़ादी का अमृत महोत्सव मनाया जा रहा है। उसी उप्लक्षय में

ललित कला अकादेमी द्वारा मुम्बई के जहांगीर आर्ट गैलरी में 5 से 13 दिसम्बर, 2021 तक “द्वितीय अन्तर्राष्ट्रीय प्रिन्ट द्विवार्षिकी भारत” का आयोजन किया जा रहा है जिसमें भारत और विदेशों के कलाकारों की लगभग 149 कलाकृतियाँ प्रदर्शित की जाएँगी। इसके अलावा मूर्धन्य कलाकार सोमनाथ होर के जन्मशती वर्ष के उपलक्ष्य में एक विशेष अनुभाग एवं एक आमँत्रित अनुभाग भी प्रदर्शित किया जाएगा। अकादेमी द्वारा अन्तर्राष्ट्रीय प्रिन्ट द्विवार्षिकी में 2-2 लाख रुपये के पाँच पुरस्कार और दस सम्मानीय उल्लेख प्रदान किए जाएँगे। साथ ही देश भर के अलग-अलग क्षेत्रों से कलाकारों के प्रिन्टों की एक प्रदर्शनी का आयोजन भी अकादेमी द्वारा प्रस्तावित है।

आपको बता दें कि पिछले छः दशकों से कला और कलाकारों के प्रोन्नयन हेतु ललित कला अकादमी अपने कला कार्यक्रमों, गतिविधियों एवं योजनाओं के माध्यम से प्रयासरत् है। अन्तर्राष्ट्रीय प्रिन्ट द्विवार्षिकी एक ऐसा ही प्रयास है जिसके माध्यम से राष्ट्रीय और अन्तर्राष्ट्रीय स्तर के छापाकला कलाकारों को कला प्रदर्शन एवं विधाओं के विनिमय हेतु मंच प्रदान किया जाता है। अकादेमी द्वारा वर्ष 2018 में प्रथम प्रिन्ट द्विवार्षिकी का आयोजन किया गया था जिसमें देश-विदेश के कलाकारों की 177 कलाकृतियाँ प्रदर्शित की गई थीं। छापाकला पूरे विश्व में प्रसिद्ध है। देश-विदेशों में इस विधा की अपनी महत्ता है इसलिए इस द्विवार्षिकी के आयोजन के माध्यम से अकादेमी छापाकला के कलाकारों को अन्तर्राष्ट्रीय मंच प्रदान करती आ रही हैं।

ललित कला अकादेमी के अध्यक्ष डॉ उत्तम पाचारणे ने कहा कि इस प्रिन्ट के एक्जीबिशन में भारत के कलाकारों के साथ अर्जेंटीना, बंग्लादेश, फ़्रांस, जर्मनी, इसराइल, नेपाल, मेक्सिको, नीदरलैंड, पेरू, पोलैंड, रूस और अमेरिका के कलाकारों की लगभग 149 कलाकृतियाँ प्रदर्शित की जाएँगी। यह कला प्रेमियों के लिए एक सुनहरा अवसर होगा।

           

———–Fame Media

Print Friendly, PDF & Email